दुनिया घूमने का शौक हो या दुनिया बदलने का, किताबों से बढ़िया सस्ता और अनमोल जरिया शायद ही कोई हो।

किताबें पढ़ने का रुझान आप में नहीं है तो आप अपने को कई अद्भुत अनुभवों से वंचित कर रहे हैं। अपने अंदर छुपी असीमित संभावनाओं को एक मौका दीजिये, कुछ आनंद के पल दीजिये खुद को, पढ़िए एक किताब ....यूँ ही नहीं कहते किताबो को हमारा सब से अच्छा मित्र..

हमारे लेखक

Anup Shukla

अनूप शुक्ल

जबलपुर
Anup Shukla

पल्लवी त्रिवेदी

भोपाल
Anup Shukla

अनुराग आर्य

मेरठ

अच्छी किताबें न सिर्फ सोच सकारात्मक बनाती हैं बल्कि कई बार जीवन को नई दिशा भी दे देती हैं।

पुस्तकें

रूके रूके से क़दम – पूनम कासलीवाल

एक जिंदा कहानी – जो शब्द दर शब्द गढ़ती है एक ऐसा दृश्य जो देखा देखा सा और अपने आस पास घटित होता जान पड़ता है।
कहानी एक पटकथा की संपूर्ण गुणों से सुसज्जित है। कभी सुनते थे कि उसने शब्दों से चित्रकारी की है – पूनम की कलम उसकी जिंदा मिसाल है।
यह कहानी हर उस दिल को छूएगी जिसमें अब भी धड़कन बाकी है। नई पीढ़ी जानेगी उस गुजरी पीढ़ी को – कुछ सीखेगी कि सीमा रेखाएं कहाँ तक आँकी जाती हैं? कुछ दूरियाँ चलना और समझना भी जरूरी है किन्तु वहीं तट की मर्यादा न लांघी जाए, उसका आँकलन भी उतना ही जरूरी है। इसका आभाव सुनामी में परिणित होगा जो मात्र तबाही लाएगा- भविष्य की कोख में क्या है यह भला कौन जान पाया है।
मैं इस कहानी को असीम संभावनाओं की जननी करार देता हूँ और मुझे उम्मीद है कि इस कहानी से गुजर कर हर पाठक मुझसे सहमत होगा।

– समीर लाल ‘समीर’

Rs.250.00
Add to cart

संपर्क