दुनिया घूमने का शौक हो या दुनिया बदलने का, किताबों से बढ़िया सस्ता और अनमोल जरिया शायद ही कोई हो।

किताबें पढ़ने का रुझान आप में नहीं है तो आप अपने को कई अद्भुत अनुभवों से वंचित कर रहे हैं। अपने अंदर छुपी असीमित संभावनाओं को एक मौका दीजिये, कुछ आनंद के पल दीजिये खुद को, पढ़िए एक किताब ....यूँ ही नहीं कहते किताबो को हमारा सब से अच्छा मित्र..

हमारे लेखक

Anup Shukla

अनूप शुक्ल

जबलपुर
Anup Shukla

पल्लवी त्रिवेदी

भोपाल
Anup Shukla

अनुराग आर्य

मेरठ

अच्छी किताबें न सिर्फ सोच सकारात्मक बनाती हैं बल्कि कई बार जीवन को नई दिशा भी दे देती हैं।

पुस्तकें

cover-khidkiyo-se

खिड़कियो से.. (लघुकथा संग्रह)

दीपक मशाल की लघुकथाएँ युवा लेखकों के लिए आदर्श हैं। विषय वैविध्य के कारण भी और प्रस्तुति  की नव्यता के कारण भी। ये लघुकथाएँ इतना तो आश्वस्त करती हैं कि  आने वाले समय में लेखक और अधिक नए विषयों का सन्धान करेगा और शिल्प के क्षेत्र में भी नए द्वार का उद्घाटन करेगा। – रामेश्वर काम्बोज हिमांशु

विख्यात कवि-आलोचक क्रिस्टोफ़र काडवेल ने कहा था कि कलाएं समाज की कोख से उसी तरह जन्म लेती हैं, जिस तरह सीप के गर्भ से मोती पैदा होता है। दीपक मशाल की इन कथाओं की जड़ें भी समय और समाज या प्रदत्त दिक् और काल में उपस्थित जीवन के असंख्य मार्मिक, विडंबनाओं से संपृक्त, यंत्रणा और उल्लास, दुःख और सुख, जय और पराजय, सृजन और विध्वंस के अनगिनत प्रसंगों का विवरण देतीं, अँधेरे-उजाले के देखे-अनदेखे जीवन-अनुभवों में गहराई से धंसी हुई कहानियां हैं। –  उदय प्रकाश

 

Rs.150.00 Rs.100.00
Order Now

संपर्क