Shop

Sale!
madam-patansheel

Madam Patansheel Calendar 2018

Rs.295.00 Rs.150.00

मैडम पतनशील हिन्‍दी का पहला बुक कैलेंडर है। ‘पतनशील पत्नियों के नोट्स’ (लेखिका नीलिमा चौहान, वाणी प्रकाशन, 2017) की इलस्‍ट्रेटर अपराजिता शर्मा ने बेहद रचनात्‍मक तरीके से इन संग्रहणीय कलाकृति को तैयार किया है। डेस्‍क कैलेंडर के रूप में अभिकल्पित इस आर्टबुक में रंगों, आकृतियों तथा किताब से लिए गए उद्धरणों से सजी इन 26 पृष्‍ठ की रचना का हर पन्‍ना संग्रहणीय है। हिंदी का पहला बुक कैलेंडर होने के नाते भी इसका ऐतिहासिक महत्‍त्‍व है। इस कला पुस्तिका के स्‍वामियों को इसकी दुर्लभता का बोध कराने के लिए भी इस कैलेंडर का अत्‍यधिक सीमित संस्‍करण ही जारी किया जा रहा है। 2018 जाने के बाद भी आप इस कला-पुस्तिका को अपने संग्रह से जाने नहीं देंगे।

Out of stock

Category:

Product Description

मैडम पतनशील हिन्‍दी का पहला बुक कैलेंडर है। ‘पतनशील पत्नियों के नोट्स’ (लेखिका नीलिमा चौहान, वाणी प्रकाशन, 2017) की इलस्‍ट्रेटर अपराजिता शर्मा ने बेहद रचनात्‍मक तरीके से इन संग्रहणीय कलाकृति को तैयार किया है। डेस्‍क कैलेंडर के रूप में अभिकल्पित इस आर्टबुक में रंगों, आकृतियों तथा किताब से लिए गए उद्धरणों से सजी इन 26 पृष्‍ठ की रचना का हर पन्‍ना संग्रहणीय है। हिंदी का पहला बुक कैलेंडर होने के नाते भी इसका ऐतिहासिक महत्‍त्‍व है। इस कला पुस्तिका के स्‍वामियों को इसकी दुर्लभता का बोध कराने के लिए भी इस कैलेंडर का अत्‍यधिक सीमित संस्‍करण ही जारी किया जा रहा है। 2018 जाने के बाद भी आप इस कला-पुस्तिका को अपने संग्रह से जाने नहीं देंगे।

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Madam Patansheel Calendar 2018”

Your email address will not be published. Required fields are marked *